Sachin Tendulkar biography in Hindi : Awards and acheivments

Sachin Tendulkar biography in hindi
Sachin Tendulkar biography :राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित एकमात्र क्रिकेट खिलाड़ी हैं। सन् 2008 में वे पद्म विभूषण से भी पुरस्कृत
Get Email of Our New Articles and Become Free Subscriber of DBInfoweb (90,000+ Joined Us):

Sachin Tendulkar biography in hindi :सचिन तेंदुलकर की जीवनी Awards and achievements of Sachin Tendulkar

Sachin Tendulkar biography in hindi – 14 अप्रैल 1973 को मुम्बई में Sachin Tendulkar का जन्म हुआ. उनके पिता का नाम रमेश तेंदुलकर है और वह मराठी के प्रोफेसर थे उन्होंने सचिन का नाम अपने प्रिय संगीतकार सचिन देव बर्मन के नाम पर रखा था. सचिन के एक भाई नितिन तेंदुलकर और एक बहन सविताई तेंदुलकर भी हैं सचिन ने शारदाश्रम विद्यामन्दिर में अपनी शिक्षा ग्रहण की।

एक मध्यम वर्ग परिवार में पैदा हुए सचिन ने अपनी शिक्षा मुंबई के शारदाश्रम विश्वविद्यालय में की. इनके भाई अजित तेंदुलकर ने इनकी प्रतिभा को जानकर बचपन से ही इनके अन्दर क्रिकेट के गुणों का समावेश किया और इनको क्रिकेट की बारीकियो को समझाते हुए इनका मार्गदर्शन किया।

1984 में अजित 11 साल की उम्र में सचिन को लेकर महाराष्ट्या के रमाकांत अचरेकर के पास गए .उसी दिन से सचिन की आँखों में क्रिकेटर बनने का ख्याब पलने लगा . और उसी दिन घर लौटते समय सचिन ने अपने भाई से कहा मैं बाकि लोगो से अच्छा खेल सकता हु . यह था 11 साल के सचिन का आत्मविश्वास.

नन्हे Sachin Tendulkar अपने खेल का हर रिकॉर्ड अपनी dairy में लिखते . एक गुरु ही अपने शिष्य को समझ सकता है . रमाकांत आचरेकन ने सचिन की क्षमता को और निखारने की एक तरकीब निकाली .सचिन के कोच रमेश आचरेकर का सचिन को अभ्यास कराने का तरीका बिल्कुल अनोखा था. वह क्रीज पर विकेट के नीचे 1 रूपये का सिक्का रखते थे. अगर किसी गेदबाज ने सचिन को आउट कर दिया तो यह सिक्का उस गेदबाज का हो जाता था और अगर सचिन आउट नहीं हुए तो यह सिक्का सचिन का हो जाता था. सचिन ने अपने गुरु से ऐसे ही 13 सिक्के जीते जो अभी भी सचिन के पास है।

15 साल की उम्र Sachin Tendulkar का मुंबई टीम में selection हुआ । 1988  में सचिन ने गुजरात के  against 100 रन की नवाद पारी खेली . और इसी साल सचिन ने दुलीप ट्रॉफी  , ईरानी  ट्रॉफी , रणजी  ट्रॉफी  में  लगातार शतक लगाया और ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए और 16 साल की उम्र में 1989 में कराची में सचिन ने Indian Cricket team की तरफ से पाकिस्तान के खिलाफ पहला मैच खेला. और 15 रन बनाकर सचिन आउट हो गए . और इसी सीरीज में पेशावर में सचिन के नाक पर गेंद लगने की वजह से चोट लगी पर सचिन रुके नहीं और पूरा  मैच खेला और 54 रन बनाये ।

1990 में इंग्लड में पहली Century मारी . और इंग्लैंड में सचिन की पारी   को देखकर सचिन की तुलना महान खिलाड़ियों में की जाने लगी . 1991-1992 के ऑस्ट्रेलिया टूर में सचिन ने 148 रन बनाये . और 1994 में इंडियन टीम में ओपनर की जगह ले चुके थे. .25 मई 1995 में सचिन ने अंजलि तेंदुलकर से शादी की ।
2003 में Cricket World कप में सचिन ने 11 Match में 673 रन बनाये जिससे इंडिया फाइनल तक पहुच गयी पर ऑस्ट्रेलिया से हार गयी . पर सचिन को मन ऑफ़  Man of the Tournament award दिया गया .पर 2005-2006  में  सचिन को टेनिस एल्बो की शिकायत हो गयी . फिर माना जाने लगा सचिन अब क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे . पर अपने कठिन समय से निकलते हुए सचिन ने २००७ में इंडियन क्रिकेट टीम में वापसी की और 11,000 test runs पुरे किये. Border-Gavaskar ट्रॉफी में , 2007–08, ४ टेस्ट मैच में 493 रन बनाये ।

Sachin ने एक बार फिर  2011 World Cup में बहुत उम्दा प्रदर्शन किया और 482 रन्स बनाये जिसमे  दो  centuries भी थी . इंडिया ने श्रीलंका को हराकर वर्ल्ड कप जीत और यह सचिन का पहला वर्ल्ड कप था ।

23 दिसम्बर 2012 को सचिन ने वन-डे क्रिकेट से संन्यास लिया और वहीँ 16 नवम्बर 2013 को मुम्बई के अपने अन्तिम टेस्ट मैच में उन्होंने 74 रनों की पारी खेलकर टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लिया. तेंदुलकर ने अपने कैरियर में 200 टेस्ट मैचों में 53.79 के बल्लेबाजी औसत के साथ 15921 रन बनाये जिसमे उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 246 रन था और वही उनके नाम 51 शतक और 68 अर्धशतक दर्ज है.।

गेदबाजी में उन्होंने 46 विकेट लिए. वही वनडे मैचों में सचिन ने 463 मैचों में 44.83 के बल्लेबाजी औसत के साथ 18426 रन बनाये जिसमे उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 200* रन था वही उनके नाम 49 शतक और 96 अर्धशतक दर्ज है. उन्होंने वनडे मैचों में अपनी गेदबाजी से टीम के लिए 154 विकेट भी लिये.इनकी बल्लेबाजी में अदभुत प्रतिभा और कठिन परिश्रम के कारण इन्हें Criket का चमत्कार भी कहा जाता है ।

  • भारत रत्न: १६ नवम्बर २०१३ को मुंबई में सचिन के क्रिकेट से संन्यास लेने के संकल्प के बाद ही भारत सरकार ने भी उन्हें देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न देने की आधिकारिक घोषणा कर दी . ४ फ़रवरी २०१४ को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में उन्हें भारत रत्न से सम्मनित किया गया। ४० वर्ष की आयु मे इस सम्मान को प्राप्त करने वाले वे सबसे कम उम्र के व्यक्ति और सर्वप्रथम खिलाड़ी हैं। गौरतलब है कि इससे पहले यह सम्मान खेल के क्षेत्र में नहीं दिया जाता था। सचिन को यह सम्मान देने के लिए पहले नियमों में बदलाव किया गया था।
  • राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित एकमात्र क्रिकेट खिलाड़ी हैं।
  • सन् २००८ में वे पद्म विभूषण से भी पुरस्कृत किये जा चुके है।

 राष्ट्रीय सम्मान

  • 1994 – अर्जुन पुरस्कार, खेल में उनके उत्कृष्ट उपलब्धि के सम्मान में भारत सरकार द्वारा।
  • 1997-98 – राजीव गांधी खेल रत्न, खेल में उपलब्धि के लिए दिए गए भारत के सर्वोच्च सम्मान।
  • 1999 – पद्मश्री, भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार।
  • 2001 – महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार, महाराष्ट्र राज्य के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार।
  • 2008 – पद्म विभूषण, भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार।
  • 2014 – भारत रत्न, भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार।
Sponsored By: MyTechnode.Com: Hacking, Programming, Blogging and Technical Tricks. [Sachin Tendulkar biography in hindi]
निवेदन :
  • कृपया अपने Comments से बताएं आपको यह Post कैसी लगी.
  • यदि आपके पास Hindi में कोई Inspirational Story, Important Article या अन्य जानकारी हो तो आप हमारे साथ शेयर कर सकते हैं. कृपया अपनी फोटो के साथ हमारी e mail ID : info@dbinfoweb.com पर भेजें. आपका Article चयनित होने पर आपकी फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित किया जायेगा.
Get Email of Our New Articles

About Shilpa Thakare 198 Articles
I am Shilpa Thakare. Professional & Motivational Blogger @ DBInfoweb. Always think Positive, Do Positive than Sky is not Your Limit. My Dream Is write inspirational Hindi , Hindi Quotes, Motivational stories and motivate people to make their happy Successful life...

2 Comments on Sachin Tendulkar biography in Hindi : Awards and acheivments

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*