Short story on Loneliness अकेलापन दूर करें

Short story on Loneliness अकेलापन दूर करें
Short story on Loneliness अकेलापन दूर करें
Get Email of Our New Articles and Become Free Subscriber of DBInfoweb (90,000+ Joined Us):

Short story on Loneliness  अकेलापन दूर करें

 Short story on Loneliness :”अकेलापन किसी को भी पसंद नहीं इसलिए साथ दीजिये उसका जो अकेला है और महसूस कीजिये उसकी और आपकी खुशी”।

मेरी मॉं ने कुछ दिनों पहले घर की छत पर कुछ गमले रखवा दिए और एक
छोटा सा गार्डन बना लिया।

पिछले दिनों मैं छत पर गई तो ये देख कर हैरान रह गई कि कई गमलों में
फूल खिल गए हैं, नींबू के पौधे में दो नींबू  🍋🍋भी लटके हुए हैं और मिर्ची के पौधे में  दो चार हरी
मिर्च भी लटकी हुई नज़र आई।

मैंने देखा कि पिछले हफ्ते उन्होंने बांस 🎋का जो पौधा गमले में लगाया था,उस गमले को घसीट कर दूसरे गमले के पास कर रही थी।

मैंने कहा आप इस भारी गमले को क्यों घसीट रही हो?

मॉं ने मुझसे कहा कि यहां ये बांस का पौधा सूख रहा है, इसे खिसका कर इस पौधे के पास कर देते हैं।

मैं हंस पड़ी और कहा अरे पौधा सूख रहा है तो खाद डालो, पानी डालो। 💦

इसे खिसका कर किसी और पौधे के पास कर देने से क्या होगा?” 😕

मॉं ने मुस्कुराते हुए कहा ये पौधा यहां अकेला है इसलिए मुर्झा रहा है।

इसे इस पौधे के पास कर देंगे तो ये फिर लहलहा उठेगा। ☺

पौधे अकेले में सूख जाते हैं, लेकिन उन्हें अगर किसी और पौधे का साथ मिल जाए तो जी उठते हैं।”

यह बहुत अजीब सी बात थी। एक-एक कर कई तस्वीरें आखों के आगे बनती चली गईं।

बचपन में मैं एक बार बाज़ार से एक छोटी सी रंगीन मछली 🐠खरीद कर लाई  और
उसे शीशे के जार में पानी भर कर रख दिया था।

मछली सारा दिन गुमसुम रही।
मैंने उसके लिए खाना भी डाला, लेकिन वो चुपचाप इधर-उधर पानी में अनमनी सी घूमती रही।

सारा खाना जार की तलहटी में जाकर बैठ गया, मछली ने कुछ नहीं खाया। दो दिनों तक वो ऐसे ही रही, और एक सुबह मैंने देखा कि वो पानी की सतह पर उल्टी पड़ी थी। :(:(

आज मुझे घर में पाली वो छोटी सी मछली याद आ रही थी।

बचपन में किसी ने मुझे ये नहीं बताया था, अगर मालूम होता तो कम से
कम दो, तीन या ढ़ेर सारी मछलियां खरीद लाती और मेरी वो प्यारी मछली यूं तन्हा न मर जाती। :'(

बचपन में मेरी माँ से सुना था कि लोग मकान बनवाते थे और रौशनी के लिए कमरे में दीपक🔥 रखने के लिए दीवार में इसलिए दो मोखे बनवाते थे क्योंकि माँ का
कहना था कि बेचारा अकेला मोखा गुमसुम और उदास हो जाता है।

मुझे लगता है कि संसार में किसी को अकेलापन पसंद नहीं।

आदमी हो या पौधा, हर किसी को
किसी न किसी के साथ की ज़रुरत होती है।

आप अपने आसपास झांकिए, अगर कहीं कोई अकेला दिखे तो उसे अपना
साथ दीजिए, उसे मुरझाने से बचाइए।

अगर आप अकेले हों, तो आप भी
किसी का साथ लीजिए, आप खुद को भी मुरझाने से रोकिए।

अकेलापन संसार में सबसे बड़ी सजा है। गमले के पौधे को तो हाथ से खींच
कर एक दूसरे पौधे के पास किया जा सकता है, लेकिन आदमी को करीब लाने के
लिए जरुरत होती है रिश्तों को समझने की, सहेजने की और समेटने की।:)

अगर मन के किसी कोने में आपको लगे कि ज़िंदगी का रस सूख रहा है,
जीवन मुरझा रहा है तो उस पर रिश्तों के प्यार का रस डालिए। 💧☺

खुश रहिए और मुस्कुराइए।☺ कोई यूं ही किसी और की गलती से आपसे दूर हो
गया हो तो उसे अपने करीब लाने की कोशिश कीजिए और हो जाइए
हरा-भरा
:😄:

Sponsored By: MyTechnode.Com: Hacking, Programming, Blogging and Technical Tricks.

 

निवेदन :
  • कृपया अपने Comments से बताएं आपको यह Post कैसी लगी.
  • यदि आपके पास Hindi में कोई Inspirational Story, Important Article या अन्य जानकारी हो तो आप हमारे साथ शेयर कर सकते हैं. कृपया अपनी फोटो के साथ हमारी e mail ID : info@dbinfoweb.com पर भेजें. आपका Article चयनित होने पर आपकी फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित किया जायेगा.
Get Email of Our New Articles

About Shilpa Thakare 198 Articles
I am Shilpa Thakare. Professional & Motivational Blogger @ DBInfoweb. Always think Positive, Do Positive than Sky is not Your Limit. My Dream Is write inspirational Hindi , Hindi Quotes, Motivational stories and motivate people to make their happy Successful life...

12 Comments on Short story on Loneliness अकेलापन दूर करें

  1. Hi Shilpa Ji,
    Nice Story. Great Words.
    You are writing and posting really nice articles. All of your articles are full of motivation and knowledgeable.

  2. Hi shilpa,
    Aapne bilkul shi kha akelapan bhut hi kharab hota hai.
    Koi bhi akele nhi rh skta.
    Mere husband ne muze divorce diya hai. kabhi kabhi koi bhut chahne wala bhi esa dhoka deta hai ki hum sochte hai Zindgi bhar akele hi rhe to achha hai…. but vo akelapn khane ko daudta hai.
    .
    .
    Ye life fake logo se bhari hui hai… kuchh log dekhne me alg aur real me kuchh aur hote hai… Isliye hr kisi pr believe nhi kiya ja skta.
    .
    Mai is topic pr article likhna chahti hu. Shilpa Ji Muze guide kre.
    Aapne jo story likhi vo shi hai but mai jo likhungi vo kuchh facts hai jo hme dhyan rkhna jruri hai… mostly girls ko.
    Thanks.

    • Thank you nisha ji for your lovely comment…
      Ji ap apne facts bhi hamare sath share kr sakti hai..Agr realy apka article girls ke liye usefull hai to ham publish karenge.
      Aur ap akeli hai to bahut sare friends banaye..unke sath time spend kare.apni hobbies unke sath share kare …tab apko akelapan kbhi feel hi nhi hoga.

  3. Hello Shilpa.
    This is really Nice Story. Thanks for this valuable site. You are doing well.
    Keep it Up Dear 🙂

  4. But when negativety is arise what a person do in this of full selfish people it easy say postive it actually diffcult to be.

    • Yes sandeep Ji. You are right but vo negativity life nhi hai…
      We can’t achieve anything with this negativity.

      achhe logo se milo,
      achhi baate socho,
      un logo se baat kro jo aapko motivate kre.

      • Yes Amit Ji. Negativity life nhi hai.
        .
        .Shilpa Ji aapka bhut dhnyawad aapke articles 2 din se regular pdh rha hu. Aapke lekh bhut hi achhe aur motivational aur inspirational hai.

        Thank You Ji. Keep it Continue.

          • Really nice with tactful facts of life.And shilpa Ji u wish u a very bright future in counselling..u know what,U’ll become a great councillor. Or mujhe baaki logo ka to nahi pata but for me u r doing a great job for the lonely peoples who think that they r nothing…

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*