Importance of Organ donation in hindi अंगदान दिव्यदान

By | February 3, 2017

अंगदान (Organ donation): दिव्यदान

कितना डर  लगता है न ये सुनने में कि अपनी Body के Parts  को हम दान दे दे…? कैसे होगा ये सब…बस यही सोचते है न आप सब भी। हमारे देश में  इसी वजह से अंगदान (Organ donation) की Awareness कम है।

तो चलिए बात करते है आज अंगदान की..ख़तम करते  है आपके अंदर का डर,  जगाते  है आपमें एक हीरो बनने की इच्छा….

आज इस पोस्ट को पढ़कर आप भी अंगदान Organ donation के लिए  Motivate हो जाएंगे और दुसरो को भी प्रोत्साहित करेंगे ..

विश्व अंगदान दिवस  १३ अगस्त को मनाया जाता है. आधुनिक समय में नयी तकनीक और उपचार के विकास और वृद्धि की वजह से अंग प्रत्यारोपण की जरुरत लगातार बड़े स्तर पर बढ़ रही है जिससे प्रति वर्ष और अंग दान की जरुरत है हर साल कई लोगो की  सिर्फ एक एक अंग ख़राब होने की वजह से  मौत हो रही है.. जबकि स्वर्ग में भी हमें इन अंगो की कोई आवश्यकता नहीं है, तो क्यों न हम इसे यही दान करके जाये. ,..???

अपने घर में अपने समाज में अगर आप अंगदान करते है तो आप सबसे कुछ हटकर करते है…और आपके ये करने से लोगो में भी कुछ नया और कुछ अच्छा करने की चेतना जागेगी…

किसी ने क्या खूब कहा है कि -” ये न सोचे की आप अंगदान करके किसी अनजान को जिन्दा रखने के लिए अपना एक अंग दे रहे है, बल्कि ये सोचे की वो आपके एक अंग को जिन्दा रखने के लिए अपना लगभग सब कुछ दे रहा है “

एक बार ये सोचे की आपके अंगो को जलने या दफ़नाने से कितनी बड़ी बर्बादी होगी जबकि वो किसी की जान बहाने के काम आ सकते है… अगर आपकी सेहत आपकी सबसे बड़ी दौलत है तो इसको Recycle करे. अपने अंगो का दान करे. ..

कौन से अंग दान किये जा सकते है.

१- आँख
२- आंत
३- आँख का सफ़ेद भाग.
४- नसे
५- ह्रदय
6- फेफड़े
७- किडनी
8- पाचक ग्रंथि

तो इस बारे में सोचो …जो काम भगवान्  भी नहीं कर सकते वो आप  कर सकते हो.. अगर आपमें भगवान्  है तो लाइए किसी को मौत के मुँह से वापस …अगर भगवान् का दिया आप इंसान को लौट देंगे तो भगवान् भी खुश होंगे…( Organ donation)
तो ठान लीजिये की आप अंगदाता (Organ donar) बनेगे और दुसरो को भी प्रोत्साहित करेंगे ….
JAI HIND

Sponsored By: MyTechnode.Com: Hacking, Programming, Blogging and Technical Tricks.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.